कितना प्यार करते हो मुझसे..?

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
तुझसे भी ज्यादा
ख़ुदसे भी ज्यादा
सपनों से ज्यादा
अपनों से ज्यादा..

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
अपनी मुस्कान से ज्यादा
हौसलों की उड़ान से ज्यादा
गर्व की ऊँचाई से ज्यादा
ख़ुद की परछाईं से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
फूलों पे भँवरों से ज्यादा
किश्तियों के किनारों से ज्यादा
सूरज की किरणों से ज्यादा
समँदर के लहरों से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
मुमताज़ के ताज़ से ज्यादा
धड़कनों की आवाज़ से ज्यादा
प्यासे के प्यास से ज्यादा
दिल के सारे जज़्बात से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
राधा के श्याम से ज्यादा
मीरा के घनश्याम से ज्यादा
सीता के राम से ज्यादा
पूनम के चाँद से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
ख़ुदा की दुआ से ज्यादा
प्रभु की कृपा से ज्यादा
मनोहर की मुरली से ज्यादा
बड़ों की ऊँगली से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
आईने के श्रृंगार से ज्यादा
आँखों के ईंतजार से ज्यादा
होठों के इकरार से ज्यादा
पायल के झनकार से ज्यादा

कितना प्यार करते हो मुझसे..?
ख़्वाबों के पहल से ज्यादा
रंगों के महल से ज्यादा
शायरों के कलम से ज्यादा
कवियों के गज़ल से ज्यादा………..

3 thoughts on “कितना प्यार करते हो मुझसे..?

  1. Kitna pyar kerte ho mujhse

    Meri her sans se jyada
    jis sans se ye zindigi hai
    us zindigi se bhi jyada
    jitna tum soch nhi sakte
    un socho se bhi jyada
    zindigi me bht log hai
    un sab logo se jyada
    lafz to bht hai btane ko
    but shyad un lafzo se bhi jyada

    phir bhi proof kerna padta….kitna pyar kerte ho mujjse ?

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s